समुद्र में शान से उतरी ‘वागिर’ भारतीय नौसेना की ताकत, चीन की चिंता ओर बड़ी

नई दिल्‍ली:- लद्दाख में सीमा पर चीन से आती कठिनाईओं के बीच भारत लगातार अपनी सैन्य ताकत को और मज़बूत करने में लगा हुआ है। इसी समय में गुरुवार को भारतीय नौसेना की स्कॉर्पीन श्रेणी की पांचवीं पनडुब्बी ” वागिर ” को मुंबई स्थित मझगांव डॉकयार्ड से मुख्य अतिथि व रक्षा राज्यमंत्री श्रीपद नाइक की पत्नी विजया ने वीडियो कांफ्रेंसिंग के जरिये लांच किया गया ।

वागिर हिंंद महासागर में पाई जाने वाली एक शिकारी मछली है, जो बेहद खतरनाक होती है। पहला  वागिर समुंद्री ज़हाज़  रूस से आया था । उसे 3 दिसंबर, 1973 को नौसेना में शामिल किया गया था और 7 जून, 2001 को सेवामुक्त कर दिया गया था ।

वागिर कलवरी श्रेणी की छह पनडुब्बीयो का हिस्सा है, जिनका निर्माण भारत में किया जा रहा है। इन्हें फ्रांसीसी नौसेना एवं ऊर्जा कंपनी डीसीएनएस ने डिजाइन किया है। इनका निर्माण भारतीय नौसेना के प्रोजेक्ट-75 के अंतर्गत मेक इन इंडिया अभियान के तहत किया  जा रहा है। इस श्रेणी की पहली  पनडुब्बी कलवरी है। अन्य तीन  पनडुब्बी खंडेरी, करंज व वेला हैं।

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "समुद्र में शान से उतरी ‘वागिर’ भारतीय नौसेना की ताकत, चीन की चिंता ओर बड़ी"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*