3 साल पहले जिस बेटे का किया था अंतिम संस्कार, वो लॉकडाउन में लौट आया

Corona Virus बीमारी जहां लोगों को दूर कर रही है और इस महामारी से कई लोग मौत के शिकार बन चुके है. वहीं, MP के छतरपुर में corona महामारी के बीच में एक परिवार का ‘मरा हुआ बेटा’ जिंदा लौटा आया.

छतरपुर के बिजावर इलाके में 3 साल पहले बिजावर के मौनासइया जंगल में एक कंकाल मिला था जिसकी पहचान भगोला आदिवासी ने अपने बेटे के रूप में की थी. परिजनों ने कंकाल का अंतिम संस्कार भी अपने बेटे की तरह कर दिया था.

अब corona संकट के चलते कई राज्यों से मजदूर घर वापसी कर रहे ऐसे में अचानक डिलारी गांव में एक युवक उदय आदिवासी अपने घर पहुंचा तो लोग हक्के-बक्के रह गए. जो पिता अपने बेटे को मरा समझकर अंतिम संस्कार कर चुका था वह अचानक सामने जिंदा खड़ा था.

इस युवक को police के पास ले जाकर पिता ने जो हकीकत बताई, उससे अब police भी हैरान है. 3 साल पहले अपने परिवार से नाराज होकर उदय हरियाणा के गुGurugram चला गया और वहां एक factory में काम करता रहा. lockdown हुआ तो वह घर वापस आया.

इस मामले में बिजावर SDOP Sitaram अवाश्या का कहना है कि जिस युवक को मरा हुआ समझा जा रहा था, वह वापिस जिंदा हो गया तो परिजनों ने जिस कंकाल का अंतिम संस्कार किया था, आखिर वह किसका था? अब पुलिस बंद कर चुकी फाइलों को फिर से खोलने जा रही है.

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "3 साल पहले जिस बेटे का किया था अंतिम संस्कार, वो लॉकडाउन में लौट आया"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*