रोड़ी (खलेट) में नाग पंचमी की दुर्लभ योग पर कल होगी रोड़ी देवी की स्थापना |

नाग पंचमी का त्योहार श्रावण शुक्ल पंचमी तिथि को मनाया जाता है. शास्त्रों में नागों को पाताल का स्वामी बताया गया है. नाग पंचमी के दिन भगवान शिव के आभूषण नागों की पूजा की जाती है. नागों की पूजा कर आध्यात्मिक शक्ति, सिद्धि और अपार धन की प्राप्ति की जा सकती है. इस बार नागपंचमी का पर्व 25 जुलाई को मनाया जाएगा. इस दिन एक खास दुर्लभ योग बन रहा है जो कालसर्प दोष निवारण के लिए बहुत उपयुक्त है|


इसी दुर्लभ योग में एक ऐसा स्थान जंहा माता नागिन (रोड़ी) के नाम से जाने वाला गाँव में कल माँ नागिन की स्थापना होने जा रही है | गाँव रोड़ी पालमपुर से 6 किलोमीटर और ठाकुरद्वारा से 2 कि० मीटर० पंचायत खलेट में पड़ता है |
इस गाँव का नाम रोड़ी माँ नागिन (रोड़ी) जी के नाम से ही पड़ा है , लेकिन समय कि रफ़्तार ऐसी है कि प्राचीन धरोहरो को भी भुला देती है | रोड़ी गाँव के यूथ क्लब के सदस्य अमित और सुशील,अश्वनी इस गाँव कि धरोहरो को फिर से स्थापित करने को और गाँव कि खुशहाली और आध्यामित्क बातावरण के लिए निरंतर प्रयास कर रहे हैं | उन्होंने इस गाँव कि सुन्दर धरोहर वंहा का रहस्य्मयी पत्थर के बारे में बताया जो कि बचपन से ही अपने दादा और बुजुर्गों से सुनते आ रहे थे |
रोड़ी गाँव के इस पत्थर कि कहानी


रोड़ी देवी का स्थान


यूथ क्लब के सदस्य अमित, सुशील ,अश्वनी इस रहस्य्मयी पत्थर को जानने को उत्सुकता हुई और वो नाग मंदिर नगरी में पुजारी जी से मिले , पुजारी जी ने रोड़ी गाँव सुनते ही बहुत उत्सुकता दिखाई और बताया कि इंद्रुनाग जी पांच भाई बहन हैं , बड़े भाई खुद इंद्रुनाग जो कि नगरी (पालमपुर) में उनसे छोटे रानीताल ,उनसे छोटे खनियारा (धर्मशाला) छोटी बहन नागनी( नूरपुर) और बड़ी बहन का नाम रोड़ी जो कि गाँव का नाम भी रोड़ी पड़ा है | इंद्रुनाग जी नगरी से कई बार अपनी बहन रोड़ी से मिलने आते जाते रहते थे | तब से ही ये बहुत ही गहरा समंब्ध हैं |

इंद्रुनाग नगरी (पालमपुर)


रोड़ी गाँव के बुजुगों का कहना है कि रोड़ी के इस चरागाह में इंद्रुनाग गायों के साथ चलते थे, और गाय के थनों से दूध भी पी लिया करते थे | पीड़ी दर पीड़ी चली आ रही थी , परन्तु यह रहस्य ही बना था | गाँव के युवकों ने पूरी जानकारी हासिल कि और नागिन रोड़ी जी का मंदिर का निर्माण करवाया |

कल नाग पंचमी की दुर्लभ योग इसी गाँव में रोड़ी (नागिन) माता कि प्रतिमा कि स्थापना होगी | कोरोना काल में सामाजिक दूरी को अपनाते हुए ये प्रतिष्ठा पुजारी द्वारा होगी | जय इंद्रुनाग

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "रोड़ी (खलेट) में नाग पंचमी की दुर्लभ योग पर कल होगी रोड़ी देवी की स्थापना |"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*