हिमाचल प्रदेश पुलिस की सिपाही भर्ती: इंटरव्यू पर फैसले के इंतजार में अटकी अधिसूचना

हिमाचल प्रदेश पुलिस की सिपाही भर्ती कोरोना के चलते टलती रही। अब जयराम सरकार के फैसले के इंतजार में अटकी है कैबिनेट ने सिपाही के 1334 पद भरने की मंजूरी दी थी। इसके बाद दिसंबर 2020 में वित्त विभाग से संस्तुति मिलने के बाद गृह विभाग ने डीजीपी संजय कुंडू को भर्ती करने के संबंध में पत्र लिखा था, लेकिन एक महीना बाद भी पुलिस मुख्यालय आवेदन प्रक्रिया शुरू नहीं कर सका है।

दरअसल, सभी विभागों में तृतीय और चतुर्थ श्रेणी के पदों पर भर्ती के लिए इंटरव्यू नहीं होते हैं। पिछली भर्ती के दौरान भी पुलिस ने सरकार के निर्देश न मिलने के चलते इंटरव्यू कराए। पुलिस मुख्यालय ने इंटरव्यू में अंक देने को लेकर एक प्रक्रिया भी बनाई और अंक देने के लिए आनलाइन प्रक्रिया शुरू की, जिससे अंकों में बदलाव न हो सके।

परन्तु इस बार मुख्यालय ने सरकार से फिर से इंटरव्यू को लेकर निर्णय करने की गुजारिश की थी। पुलिस एक्ट में संशोधन के बिना इंटरव्यू की प्रक्रिया को खत्म नहीं किया जा सकता। यही वजह है कि मुख्यालय लगातार सरकार से इस संबंध में संपर्क में है।

पिछले दिसंबर 2019 में मुख्यमंत्री ने सिपाही भर्ती की एक कार्यक्रम के दौरान घोषणा की थी। बजट सत्र के दौरान भर्ती का जिक्र किया गया, लेकिन कोरोना के चलते जयराम मंत्रिमंडल ने भर्ती को हरी झंडी नहीं दी। कोरोना का असर कम होने पर भर्ती को शुरू करने की इजाजत दी, लेकिन अब पीएचक्यू के भर्ती शुरू न करने से युवाओं की मुश्किलें बढ़ गई हैं।

सिपाही भर्ती में युवाओं के लिए उम्र की सीमा होती है। तय से एक दिन भी ज्यादा दिन की उम्र होने पर भर्ती में शामिल नहीं हो सकते। ऐसे में युवाओं को मुश्किलों का सामना करना पड़ सकता है।

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "हिमाचल प्रदेश पुलिस की सिपाही भर्ती: इंटरव्यू पर फैसले के इंतजार में अटकी अधिसूचना"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*