मनरेगा में अब व्यक्तिगत कार्य के लिए ग्रामसभा की मंजूरी जरूरी नहीं-वीरेंद्र कंवर, ग्रामीण विकास मंत्री 

Corona curfew के कारण प्रदेश में ग्रामसभाओं का आयोजन नहीं हो रहा है। ऐसे में ग्रामीण विकास विभाग ने MNREGA के तहत नए काम बिना ग्रामसभा की स्वीकृति के शुरू करवाने की plan बनाई है। अब किसी को व्यक्तिगत काम MNREGA के तहत करवाना है, तो उसके लिए सिर्फ apply करना होगा। उसके बाद पंचायत काम शुरू करने को permission दे देगी। 

ग्रामीण विकास विभाग का पंचायतों में ‘MNREGA समग्र’ program कारगर साबित होगा, जिसके अंतर्गत ग्रामीण क्षेत्रों में खेती, बागवानी, पशुपालन एवं मछली पालन की गतिविधियों को सुदृढ़ करने के लिए व्यक्तिगत कार्यों को बढ़ावा दिया जाएगा। ‘MNREGA समग्र’ के अंतर्गत केंचुआ खाद पिट के लिए 9000, बकरी Shed निर्माण के लिए 35000, मुर्गी आश्रय निर्माण के लिए 40,000, गोशाला के लिए 35000, सूअर बाड़े के लिए 35,000, फलदार, औषधीय, पशु चारे वाले शहतूत पौधरोपण, ओजोला पौधरोपण, किचन गार्डन, फूलों की नर्सरी, मत्स्य पालन के लिए तालाब निर्माण, भूमि समतलीकरण, भूमि कटाव को रोकने हेतु सुरक्षा दीवार निर्माण, कूहल के निर्माण और कंटूर/ग्रेडड बांध/ खेत बांध के निर्माण तथा वर्षा जल संग्रहण टैंक के लिए 1-1 Lakh rupay की राशि, toilet निर्माण के लिए 15,000 और उसके लिए खड्डा बनाने को 8000 रुपये spent करने का प्रावधान है।
MNREGA के तहत नए काम शुरू करने के लिए ग्रामसभा से स्वीकृति की जरूरत नहीं है। कोई भी MNREGA समग्र के तहत काम के लिए पंचायत office में जाकर apply कर सकता है। उसके बाद पंचायत work को स्वीकृति देगी। – वीरेंद्र कंवर, ग्रामीण विकास मंत्री 

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "मनरेगा में अब व्यक्तिगत कार्य के लिए ग्रामसभा की मंजूरी जरूरी नहीं-वीरेंद्र कंवर, ग्रामीण विकास मंत्री "

Leave a comment

Your email address will not be published.


*