बेटी को बचाने के लिए मां ने पब्बर नदी में लगा दी छलांग

शिमला जिले के चिड़गांव तहसील मे बडियारा पुल के पास गुरुवार को महिला और उसकी नौ माह की बच्ची पब्बर नदी में बह गए। गुरुवार दोपहर साढे़ चार बजे की हैं, जब 20 वर्षीय मनीषा पत्नी कुशाल गांव नावी (ढाकगांव) तहसील चिड़गांव अपनी नौ माह की बेटी साईषा के साथ सड़क किनारे पैरापिट पर बैठकर घर जाने को गाड़ी का इंतजार कर रही थी। इस दौरान मां का बेटी से ध्यान हट गया और वह फिसलकर पब्बर नदी में गिर गई और नदी के तेज बहाव में बह गई।

महिला अपने मायके से ससुराल वापस जा रही थी। इस दौरान वह काल का ग्रास बन गई। इस घटना में मां की मौत हो गई, जिसका शव घटना स्थल से करीब 500 मीटर दूर नदी के किनारे से बरामद हुआ है। बेटी को बचाने के प्रयास में मां भी नदी में कूद गई परंतु वो भी तेज बहाव में बह गई। । पुलिस के अनुसार चालक शिव शंकर ने मां को बेटी के साथ पब्बर किनारे देखा। जिस दौरान उसका बेटी पर ध्यान नहीं था तो इस दौरान चालक ने महिला को बच्ची का ख्याल रखने को कहा है। इसके बाद जैसे ही चालक 20 मीटर आगे बढ़ा उसने मां के चिल्लाने की आवाज सुनी। जब मुड़कर देखा तो मां-बेटी नदी के तेज बहाव में बहते हुए दिखीं।बच्ची का अभी तक कोई सुराग नहीं मिल पाया है। इसकी तलाश में स्थानीय लोग व पुलिस दल जुटा हुआ हैं। डीएसपी रोहडू सुनील नेगी ने जानकारी दी कि मां का शव बरामद कर लिया गया है, जिसे पोस्टमार्टम के लिए संदासू भेजा गया है। पुलिस बच्ची की तलाश कर रही है |

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "बेटी को बचाने के लिए मां ने पब्बर नदी में लगा दी छलांग"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*