सुप्रीम कोर्ट में मोदी सरकार ने माना- बढ़ रहा CORONA संक्रमण, बनाने होंगे कई make-shift अस्पताल

कोरोना वायरस के मामलों के बीच केंद्र सरकार ने सुप्रीम कोर्ट में हलफनामा दायर किया है. सरकार ने SC में कहा है कि देश में case बढ़ रहे हैं, ऐसे में make shift hospital बनाने पड़ सकते हैं.

केंद्र सरकार की ओर से गुरुवार को supreme court में corona virus संकट को लेकर हलफनामा दायर किया गया है. केंद्र ने अपने हलफनामे में माना है कि देश में corona virus संक्रमितों की संख्या लगातार बढ़ रही है. ऐसे में देश में बड़ी संख्या में make shift hospital की स्थापना करनी होगी.

केंद्र सरकार की ओर से दाखिल हलफनामे में कहा गया है कि अब देश में तेजी से corona संक्रमितों की संख्या बढ़ रही है. ऐसे में निकट भविष्य में मौजूदा hospitals के अलावा corona patients के लिए अस्थाई make shift hospitals का निर्माण करना होगा. ताकि उनकी c care की जा सके.

Center Govt की ओर से कहा गया कि संकट की इस घड़ी में मरीजों की देखभाल में जुटे health employee की देखभाल करने की जरूरत है. govt की ओर से पूरी निष्ठा के साथ संरक्षण की कोशिशें की जा रही हैं.

आपको बता दें कि पिछले कुछ दिनों में भारत में कोरोना वायरस के मामले तेजी से बढ़े हैं. पिछले 3-4 दिन में तो रोज 8,000 से अधिक मामले सामने आए हैं, जबकि Thursday को 9,000 से अधिक case report हुए. गुरुवार सुबह तक देश में corona virus के total case की संख्या 2.17 लाख तक पहुंच गई, जबकि deaths का आंकड़ा 6 हजार का आंकड़ा पार कर गया.

मजदूरों के वेतन मामले में SC की सख्ती

आपको बता दें कि गुरुवार को ही सुप्रीम कोर्ट में लॉकडाउन के दौरान मजदूरों के वेतन को लेकर सुनवाई हुई. सरकार की ओर से अदलत में इस मामले में कहा गया है कि ये कंपनी और मजदूरों के बीच का मामला है, ऐसे में वो इसमें दखल नहीं देंगे. अब इस मसले पर अदालत की ओर से 12 जून को फैसला सुनाया जाएगा.

दिल्ली सीमा विवाद पर SC का फैसला, NCR के लिए कॉमन पास बनाएं तीनों राज्य

अदालत ने सुनवाई के दौरान सख्ती बरती और पूछा कि आप एक ओर तो ये दावा कर रहे हैं कि आपने कामगारों की जेब में पैसे डाले हैं. वो 20 हजार करोड़ रुपए आखिर कहां गए?

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "सुप्रीम कोर्ट में मोदी सरकार ने माना- बढ़ रहा CORONA संक्रमण, बनाने होंगे कई make-shift अस्पताल"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*