गर्भवती महिला को ले जा रही AMBULANCE को शेरों ने घेरा, गाड़ी में ही हुआ बच्चे के जन्म

Corona lock down की वजह से जंगली जानवरों का खुले में घूमना कई बार देखा जा चुका है. गुजरात से चौंकाने वाली खबर सामने आई है, जिसमें एक गर्भवती महिला को कई बब्बर शेरों के बीच ambulance में ही अपने बच्चे को जन्म देना पड़ा. यह घटना गढड़ा के भाका गांव की है. शेरों के हटने के बाद महिला को hospital ले जाया गया, जहां बच्चा और महिला दोनों स्वस्थ हैं.

दरअसल, 20 May की रात लगभग 10.20 बजे गढड़ा के भाखा गांव की अफसाना सबरिश रफीक को अचानक labor pain शुरू हुआ. यह महिला दर्द से बेहाल थी. घरवालों ने उसकी नाजुक हालत देखकर फौरन 108 पर phone किया और ambulance बुलाई. जैसे ही ambulance महिला को लेकर hospital के लिए निकली तो गांव से दूर गिर गढड़ा से उना के रास्ते में 4 बब्बर शेरों ने गाड़ी का रास्ता रोक लिया.

इन शेरों की मंशा देख कर ऐसा लगता था जैसे ambulance का रास्ता रोक कर खड़े हों. गाड़ी से निकल कर इन शेरों को रास्ते से हटाने की किसी ने हिम्मत तक नहीं की क्योंकि ये झुंड में थे और देर रात का समय था. लिहाजा खतरा ज्यादा था, उधर महिला दर्द से बेहाल थी जिसे जल्दी hospital पहुंचाना जरूरी था. कुछ देर बाद EMT जगदीश मकवाना और Driver भरत अहीर ने हिम्मत से स्थिति को संभाला. दोनों ने मिलकर ambulance के भीतर ही delivery कराई. फिर महिला ने एक बच्ची को जन्म दिया.

हैरानी की बात यह रही कि इस पूरे वाकये के दौरान शेर गाड़ी का रास्ता रोके वहीं खड़े रहे. चारों शेर गाड़ी के आसपास चक्कर लगाते रहे. आखिर 20 मिनट के बाद जब बच्ची का जन्म हो गया तब शेरों ने रास्ता छोड़ा. इसके तुरंत बाद ambulance के दोनों staff ने mother और girl child को गिर गढड़ा के hospital पहुंचाया.

महिला और उसकी बच्ची स्वस्थ हैं. अमरेली के 108 आपातकालीन प्रबंधन कार्यकारी अधिकारी चेतन ने बताया कि रसूलपुरा गांव की रहने वाली मकवाना को जाफराबाद कस्बे के govt hospital ले जाया जा रहा था. इसी दौरान शेर ambulance का रास्ता रोककर खड़े हो गए थे.

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "गर्भवती महिला को ले जा रही AMBULANCE को शेरों ने घेरा, गाड़ी में ही हुआ बच्चे के जन्म"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*