जानिए मंडी, शिमला, कांगड़ा और सिरमौर की चार पंचायताेेें ने क्यों कमाया नाम

हिमाचल प्रदेश के मंडी, शिमला, कांगड़ा और सिरमौर जिलों की चार पंचायतों को भारत सरकार के ग्रामीण विकास और पंचायती राज विभाग की वार्षिक पत्रिका में स्थान मिला है। यह चार पंचायते मुरहाग, जामन की सैर, धामून और आइमा पंचायत शामिल हैं।

  1. मनरेगा पार्क बना मुरहाग की शान
    मुरहाग पंचायत में 5 बीघा भूमि पर पार्क बनाया गया है। जिसमे मनरेगा में 1 करोड़ 20 लाख रुपये की धनराशि खर्च की गई।
  2. सिंचाई सुविधा को लेकर जामन की सेर पंचायत ने बनाई पहल
    विकास खंड पच्छाद की जामन की सेर पंचायत ने अछला चंद्रा प्रोजेक्ट में अप्रैल 30- 2019 को नाले का पानी स्टोर करके सिंचाई टैंक के कार्य को पूरा किया। इससे गांव के 10 परिवारों को लाभ पहुंचाया गया।

3. पर्यावरण संरक्षण और पर्यटन गतिविधियों में धामून का बोलबाला
विकास खंड मशोबरा की धामून पंचायत ने पर्यावरण संरक्षण और पर्यटन गतिविधियों को बढ़ावा देने के लिए बाघली और भवाना गांवों में सड़क किनारे 300 मीटर तक पौधरोपण किया। इस पंचायत ने देवदार, अमरूद और फूलों के पौधे रोपित।

4. ठोस कचरा प्रबंधन को लेकर आइमा पंचायत बनी प्रेरणा
पालमपुर की आइमा पंचायत ने 3 माह में स्वच्छ भारत अभियान में ठोस कचरा प्रबंधन के लिए एक प्लांट तैयार किया और लोगों को रोजगार दिया गया। इस प्लांट से पूरे शहर के किचन वेस्ट और सैनेटरी नेपकिन को खाद में परिवर्तित करके इसका उत्पाद तैयार किया जाता है।

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "जानिए मंडी, शिमला, कांगड़ा और सिरमौर की चार पंचायताेेें ने क्यों कमाया नाम"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*