प्रदेश मे होटल मालिको ने 8 जून से होटल खोलने से मना किया

हिमाचल प्रदेश  में 8 जून से होटल खोलने के होटल मालिको  ने मना किया । होटल मालिकों का मानना है कि कोरोना महामारी  के चलते हिमाचल  प्रदेश में टूरिस्ट  ही नहीं आएंगे तो होटल खोलकर क्या फायदा । केंद्र सरकार ने जारी गाइडलाइंस में आठ जून से होटल खोलने को कह दिया है, परन्तु प्रदेश में जून अंत तक ही होटल खुलने के आसार कम ही हैं। मंदिरो को खोलने  को लेकर भी अभी सरकार का रुख़ साफ नहीं है। इसलिए सरकार ने श्रद्धालुओं के लिए प्रदेश के 35 प्रमुख मंदिरों के ऑनलाइन दर्शन करवाने की योजना बनाई है। होटलों को खोलने के लिए प्रदेश सरकार केंद्रीय स्वास्थ्य और पर्यटन मंत्रालय की गाइडलाइंस को लेकर बना रही है। कुछ दिनों से होटल यूनियनों और मालिकों के साथ हुई वीडियो कांफ्रेंस के आधार पर मिले सुझावों और आपत्तियों पर रिपोर्ट तैयार की जा रही है। होटल यूनियनों ने अभी होटल खोलने में जल्दबाजी न करने की पक्ष मे नहीं  है।

होटल मालिको  का मानना है कि अप्रैल से जून तक चलने वाला सीजन भी प्रभावित हो गया है। आने वाले दिनों में बरसात का मौसम शुरू हो जाएगा। इस दौरान टूरिस्ट  के आने से भी कम रहती है। शिमला होटल एंड रेस्टोरेंट एसोसिएशन के अध्यक्ष संजय सूद का कहना है कि जब तक टूरिस्टों  का आना  शुरू नहीं हो जाता  तब तक होटलों को खोलने का विचार नहीं है। होटल एंड रेस्तरां एसोसिएशन मैक्लोडगंज के अध्यक्ष अश्वनी बांबा ने जानकारी है कि व्यवसायियों ने होटल 30 जून तक बंद रखने की बात की है। किन्नौर होटल एसोसिएशन के प्रवक्ता शांता नेगी ने कहा कि अधिकतर होटल गांवों में हैं। गांवों में अभी बाहर से आने वालों की एंट्री निषेध है। अभी होटल खोलना उचित नहीं है। मणिकर्ण घाटी होटल एसोसिएशन के अध्यक्ष किशन ठाकुर ने कहा  कि सैलानियों है नहीं, इसलिए 30 जून तक मणिकर्ण घाटी के होटल नहीं खुलेंगे। होटल एसोसिएशन मनाली के अध्यक्ष अनूप राम ठाकुर ने बताया कि कोरोना महामारी के कारण जून में मनाली के होटल बंद रहेगे ।

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "प्रदेश मे होटल मालिको ने 8 जून से होटल खोलने से मना किया"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*