हिमाचल: लॉकडाउन के बाद स्कूल शुरू होते ही छात्र पढ़ेंगे ‘हैप्पीनेस करिकुलम’

हिमाचल प्रदेश सरकार ने छात्रों को खुश रहने के तरीके सिखाने के लिए ‘हैप्पीनेस करिकुल्लम’ पाठ्यक्रम में जुड़ेगा। यह पाठ्यक्रम छठी कक्षा से लेकर 12 कक्षा तक के छात्रों को पढ़ाया जाएगा। लॉकडाउन के बाद स्कूल खुलते ही विद्यार्थी इस विषय को पढ़ सकेंगे। प्रदेश स्कूल शिक्षा बोर्ड ने इसका पूरा खाका तैयार कर लिया है। बोर्ड के अध्यक्ष डॉ. सुरेश कुमार सोनी ने बताया कि छात्रों के सर्वांगीण विकास के लिए स्कूली पाठ्यक्रम में ‘हैप्पीनेस करिकुल्लम’ को जोड़ा जाएगा।

इस पाठ्यक्रम मे छात्रों को खुश रहने के तरीके, मोबाइल फोन से दूरी बनाने सहित अन्य तरीके सिखाए जाएंगे, जिससे वे तनाव से दूर होकर खुश रह सकें। पाठ्यक्रम को शुरू करने को लेकर वीरवार को कार्यशाला का आयोजन हुआ, जिसमें हैप्पीनेस विशेषज्ञ योगेश कोछर विशेष रूप से उपस्थित रहे। सोनी ने बताया कि योगेश कोछर इस क्षेत्र में 30 वर्षों से राष्ट्रीय और अंतरराष्ट्रीय स्तर पर अनुभव रखते हैं और मौजूदा समय में धर्मशाला में ही रह रहे हैं।

विशेषज्ञ की ओर से दी गई प्रस्तुति विद्यार्थियों के स्थानिक एवं लौकिक पहलुओं व भावनात्मक एवं वौद्धिक विकास पर केंद्रित रहीं। सोनी ने कहा कि विद्यार्थियों को प्रसन्नतापूर्ण एवं तनाव रहित वातावरण उपलब्ध करवाने के लिए ‘हैप्पीनेस करिकुल्लम’ पाठ्यक्रम उपयोगी सिद्ध होगा। वहीं, कार्यशाला में बोर्ड के सचिव सहित अन्य पदाधिकारी भी मौजूद रहे।

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "हिमाचल: लॉकडाउन के बाद स्कूल शुरू होते ही छात्र पढ़ेंगे ‘हैप्पीनेस करिकुलम’"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*