शारदीय नवरात्र आज से, सुबह-सुबह शक्तिमपीठ मां के जयकारों से गूंज उठे

हिमाचल प्रदेश मे श्रद्धालुओं के लिए खोले शक्तिपीठों और मंदिरों में आज से शारदीय नवरात्र शुरू हो रहे हैं। आज सुबह – सुबह हजारों श्रद्धालु देवियों के दर्शन के लिए पहुंचेंगे। नवरात्र के लिए शक्तिपीठ फूलों और लाइटों से सजा दिए गए हैं। पूरे मंदिर परिसर सैनिटाइज किए जा रहे हैं। शक्तिपीठ नयनादेवी में दिन-रात 22 घंटे और चिंतपूर्णी में 18 घंटों तक मंदिरों के कपाट खुले रहेंगे। तड़के ही मंदिरों के बाहर कतारें लगनी शुरू हो जाएंगी। इस दौरान कोविड नियमों का सख्ती से पालन करना होगा। मंदिरों में न घंटियां बजेंगी न प्रसाद बंटेगा। भजन-कीर्तन, नारियल चढ़ाने और लंगर लगाने पर रोक होगी| कोरोना के चलते श्रावण अष्टमी मेलों में मंदिर बंद ही रहे थे।मंदिर अधिकारियों ने श्रद्धालुओं से अपील की है कि बीमार, बुजुर्ग और बच्चे नवरात्र के दौरान मंदिर न आएं। साथ ही किसी भी व्यक्ति में अगर खांसी, जुकाम, बुखार या सांस लेने में दिक्कत जैसे लक्षण हैं तो वे भी आने से परहेज करें। लक्षण दिखने वाले व्यक्तियों को आइसोलेट किया जाएगा।

शक्तिपीठ         कपाट खुलने/बंद रहने का समय

मां नयनादेवी        रात 12 से 2 बजे ही बंद रहेंगे कपाट

मां चिंतपूर्णी         सुबह पांच से रात 11 बजे तक दर्शन

मां ज्वालाजी         सुबह 6 से रात 10 बजे तक होंगे दर्शन

मां बज्रेश्वरी         सुबह 5 से रात 9:30 बजे तक होंगे दर्शन

मां चामुंडा            सुबह 6 से रात 9 बजे तक होंगे दर्शन

नवरात्र पर हिमाचल पथ परिवहन निगम शक्तिपीठों के लिए ऑन डिमांड बसें चलाएगा। इसके लिए लोगों को परिवहन निगम की ऑनलाइन साइट पर आवेदन करना होगा। हालांकि, परिवहन निगम ने बाहरी राज्यों के लिए बस सेवा शुरू की है, लेकिन अगर कोई ग्रुप शक्तिपीठों में देवी-देवताओं के दर्शन के लिए जाना चाहता है तो इसके लिए परिवहन निगम ने बसें आरक्षित रखी हैं। हिमाचल से बाहरी राज्यों के लिए 150 रूट बहाल किए हैं। मंदिर अधिकारियों ने श्रद्धालुओं से अपील की है कि बीमार, बुजुर्ग और बच्चे नवरात्र के दौरान मंदिर न आएं। साथ ही किसी भी व्यक्ति में अगर खांसी, जुकाम, बुखार या सांस लेने में दिक्कत जैसे लक्षण हैं तो वे भी आने से परहेज करें। लक्षण दिखने वाले व्यक्तियों को आइसोलेट किया जाएगा। हर श्रद्धालु का पंजीकरण करने के बाद ही दर्शनों की अनुमति दी जा रही है। स्‍थानीय लोगों के लिए भी नियम बराबर हैं। प्रशासन की तरफ से भी पूरे इंतजाम किए गए है | कोरोना महामारी के चलते प्रशासनिक अधिकारी भी इंतजाम को लेकर सतर्क है |

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "शारदीय नवरात्र आज से, सुबह-सुबह शक्तिमपीठ मां के जयकारों से गूंज उठे"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*