धर्मशाला: चीन के खिलाफ विरोध तेज, तिब्बतियों ने दुनिया से मांगी मदद

प्रदर्शन के दौरान तेनजिन खांडो ने News Agency ANI से कहा कि हम चाहते हैं कि विश्व बिरादरी और दुनिया के तमाम संगठन चीन के खिलाफ एकजुट हों और तिब्बत की ऐसी दशा के लिए चीन को जिम्मेदार ठहराएं|

HImachal Pradesh में रह रहे निर्वासित तिब्बती नागरिकों ने चीन के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तेज कर दिया है. इन नागरिकों ने शुक्रवार को Dharamshala में बड़ा विरोध मार्च निकाला और चीन की नीतियों के खिलाफ आवाज बुलंद की.

DHARAMSHALA में शनिवार को इस विरोध प्रदर्शन की अगुआई Central Tibetan Women Association ने की. प्रदर्शन के दौरान तेनजिन खांडो ने News Agency ANI से कहा कि हम चाहते हैं कि विश्व बिरादरी और दुनिया के तमाम संगठन चीन के खिलाफ एकजुट हों और Tibet की ऐसी दशा के लिए China को जिम्मेदार ठहराएं|

तिब्बत में China के खिलाफ काफी पहले से विरोधी लहर है. हालांकि चीन इस विरोध को वहां टिकने नहीं देता. लिहाजा, जो लोग विरोध करने वाले हैं वे या तो चुप हैं या कहीं और शरण लिए हुए हैं. Tibet के कई नागरिकों ने Himachal Pradesh में शरण ली है. Himachal Pradesh के DHARAMSHALA में इनकी अच्छी खासी संख्या है. तिब्बती निर्वासित नागरिक अक्सर China के खिलाफ विरोध प्रदर्शन तेज करते रहते हैं|

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "धर्मशाला: चीन के खिलाफ विरोध तेज, तिब्बतियों ने दुनिया से मांगी मदद"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*