Coronavirus: श्री शांता कुमार ने कहा तब्लीगी मूर्खता न होती तो कोरोना वायरस को हराने में भारत सबसे आगे होता

Coronavirus: श्री शांता कुमार ने सोशल मीडिया पर अपनी प्रतिक्रिया व्यक्त की उन्होंने कहा की तब्लीगी मूर्खता न होती तो कोरोना वायरस (कोविड-१९) से निपटने में भारत सबसे आगे होता
और कहा कि पूरे विश्व में कोरोना का संकट बढ़ता जा रहा है। सभी को हिम्मत सूझबूझ से इसका मुकाबला करना चाहिए
घर पर रहें और योग को अपनी दिनचर्या में शामिल करें ।

सोशल मीडिया के अपने पेज पर भाजपा नेता ने यह प्रतिक्रिया व्यक्त की । इतना ही नहीं शांता कुमार ने यहां तक लिखा है कि भारत में यह तब्लीगी मूर्खता न होती तो भारत आज सब देशों से आगे होता, क्योंकि भारत ने समय रहते सब प्रकार की सावधानियां लागू कर दी थी। प्रशासन उन मूर्खो को घर-घर ढूंढने में लगा है जो ज़मात में शामिल हुए थे । यह देश का बहुत बड़ा दुर्भाग्य है।

तब्लीगी समुदाय के लोग विश्व में 60 से अधिक देशों में रहते हैं, यदि ऐसी मूर्खता वहां हुई होती तो इस समय तक आधी दुनिया खत्म हो गई होती । यह समझ नहीं आता कि उन देशों में इस प्रकार से कभी कोई घटना नहीं घटती,
इसका एक बुनियादी कारण है, दो प्रकार की मनोवृत्तियों का होना।
पहली है मोहम्मद करीम छागला और दूसरी है ओवैसी की। छागला सुप्रीम कोर्ट के मुख्य न्यायाधीश थे, उन्होंने मुंबई में कहा था मेरी रगों में भारत के ऋषि मुनियों का खून दौड़ता है, उनका तात्पर्य यह था कि उनके पूर्वज हिन्दू थे, लेकिन उन्होंने किसी कारणवश इस्लाम पर विचार किया था।

और ओवैसी का कहना हैं हमारे पूर्वजों ने भारत को जीत कर 800 साल तक राज किया था। यह एक ऐतिहासिक सच्चाई है कि विदेशों से बहुत कम मुसलमान आक्रमणकारी आए, आज के करोड़ों मुसलमान उस समय के उन हिंदुओं की संतान हैं, जिन्होंने किसी कारण इस्लाम स्वीकार किया था। जो भारत में आए कुछ शासक बन गए और आम मुसलमान भारत को लूट कर वापस चले गए। जिन्होंने सोमनाथ से लेकर कांगड़ा मंदिर तक लूट की। वे भारत में नहीं रुके।

ओवैसी मनोवृत्ति के लोग आज भी रहते भारत में हैं, लेकिन अपने आपको उन विदेशी बर्बर लुटेरे आक्रमणकारियों का वंशज समझते हैं।

शांता ने कहा कि मुझे खुशी है भारत के बहुत से मुसलमान भाई छागला मनोवृत्ति को मानते हैं। वह सब देशभक्त हैं स्वतंत्रता के युद्ध में भी उन्होंने भाग लिया, लेकिन कठिनाई यह है कि ओवैसी प्रवृत्ति के लोग तब्लीगी समाज की तरह ही परेशानियां पैदा करते रहते हैं।

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

10 Comments on "Coronavirus: श्री शांता कुमार ने कहा तब्लीगी मूर्खता न होती तो कोरोना वायरस को हराने में भारत सबसे आगे होता"

  1. देशभक्त | April 9, 2020 at 3:14 am | Reply

    लोग अभी भी उसे केवल मूर्खता समझ रहें है, इससे बड़ी मूर्खता भला और क्या हो सकती है?

  2. Renuka Sharma | April 9, 2020 at 5:54 am | Reply

    लेकिन इस कारण को पहचानने के बाद क्या कारवाई हुई ?
    हर बार कारण समझ कर भी एक राष्ट्र के रूप देश को बचाने के लिए हमने क्या किया।?
    और देशों में ये थूक फेकना ,मारना , पत्थर चलाना क्यू नहीं हुआ ?

  3. Sir aap sarkaar pe pressure dalo ki tabliki jamaat ko vand kro plz

  4. संजीव कुमार शाही | April 11, 2020 at 5:34 am | Reply

    सर आप सरकार में हैं और आपकी जिम्मेदारी है कि ऐसे लोगों के साथ कड़ी कार्रवाई करे पूरा देश इस विपत्ति से त्रस्त हैं और कोई भी व्यक्ति या समूह गलती करे उस पर संपूर्ण सख्ती करने की जरूरत है
    जय हिंद

  5. Avinash
    Apane Desh aur sewa karne wale deshawasiyope thukane aur badsaluki karnewale kisi bhi tarahase deshawasi (citizen) & Insan (human) najar nahi ate

  6. Are desh bhakto ab bas karo… Kitna kichad uchaloge kisi ek sampraday per… Itna bhi mat gir jao…

  7. Sir is tabliki jamat ko Ban karna chahiye kyoki ye log ko dushro ki jaan ki parwah nahi hai aur na hi sarkar ki ye log desh drohi hai

  8. Yehb legal moorkh hi nhi hein prantu kroor bhi hein inka sahi ilaz hona chahiye

  9. Ban Karo tabliki jamat ko….or desh bachao

Leave a comment

Your email address will not be published.


*