सोशल मीडिया पर छा रहा बीजेपी नेता श्री शांता कुमार का चुटकुला और जनता से की अपील

भाजपा नेता शांता कुमार इन दिनों सोशल मीडिया पर काफी सक्रिय हैं। फेसबुक पर उनके लिखे लेखों को जहां उनके समर्थक पसंद कर रहे हैं, श्री शांता कुमार जी ने कोरोना के कारण पैदा हुई उदासी से उबरने के लिए जनता का आह्वान किया कि हँसे और मुस्कुराएं । ऐसा करने से इंडिया भी मुस्कुराएगा और कोरोना से भी जीतेगा।

सोशल मीडिया पर शेयर की पोस्ट में उन्होंने पूर्व प्रधानमंत्री स्वर्गीय अटल बिहारी वाजपेयी और दिग्ग्गज भाजपा नेता रहे विष्णुकांत शास्त्री के साथ घटी एक घटना को यद् करते हुये गुदगुदाने का प्रयास किया।
साथ ही अमर शहीद भगत सिंह का उदाहरण देते हुए कहा कि भगत सिंह यदि हँसते हँसते फांसी के फंदे पर चढ़ गया था तो हम घर पर भी परिवार के साथ कुछ दिन खुशी से क्यों नहीं रह सकते ? हंसिये, मुस्कुराइए और जोर से कहिए, फिर मुस्कुराएगा इंडिया फिर जीतेगा इंडिया। इस पोस्ट पर काफी लोगों ने प्रतिक्रिया दी है।

श्री शांता कुमार जी लिखते हैं कि अटल जी और शास्त्री जी को उन्होंने एक चुटकुला सुनाया कि एक भूखा शेर जोर से दहाड़ा। सामने एक धोती पहने ब्राह्मण आ गया, वह घबराया और भागा। शेर उसके पीछे भागा। ब्राह्मण ने हाथ जोड़े और गिड़गिड़ाया, जंगल के राजा मैं गरीब हूं, मुझे छोड़ दो। मैं तुम्हारी शादी करवा दूंगा। और आपसे मैं कोई दक्षिणा नहीं लूंगा। शादी की बात सुनते ही शेर मुड़ा और जोर से भागा। जंगल में शोर मच गया जंगल का राजा भाग रहा है। सामने एक चूहा आया और पूछा, जंगल के राजा आप क्यों भाग रहे हैं।

इस पर शेर बोला, एक ब्राह्मण मेरे पीछे पड़ा है। कह रहा है कि मेरी शादी करा देगा । चूहे ने कहा, जंगल के राजा यह बात है तो भाग जाओ पीछे मुड़कर देखना ही मत। शेर भागा फिर खड़ा हो गया बोला, चूहे तुम यह क्यों कह रहे हो। चूहे ने कहा, जंगल के राजा मैं सच कहता हूं कि शादी से पहले मैं भी शेर ही था। शेर भाग खड़ा हुआ। अटल जी इस पर बहुत हंसें और मुझे देखकर कहने लगे, इसलिए मैं अभी भी शेर हूं और तुम जंगल का राजा। शांता लिखते हैं कि आज अटल जी और शास्त्री जी इस दुनिया में नहीं पर मैं यह सब याद करते उन्हें देख रहा हूं।

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "सोशल मीडिया पर छा रहा बीजेपी नेता श्री शांता कुमार का चुटकुला और जनता से की अपील"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*