हिमाचल प्रदेश के सरकारी और निजी पॉलीटेक्निकल कॉलेजों में 4027 सीटें खाली रह गईं

हिमाचल प्रदेश के सरकारी और निजी पॉलीटेक्निकल कॉलेजों में first round की counseling  के बाद तीन वर्षीय इंजीनियरिंग डिप्लोमा कोर्स के लिए 4027 सीटें खाली रह गई हैं। सरकारी पॉलीटेक्निकल संस्थानों में 2040 तो प्राइवेट संस्थानों में 1987 सीटें खाली हैं। अब इन सीटों को भरने के लिए तकनीकी शिक्षा बोर्ड दूसरे राउंड की काउंसलिंग करेगा। PAT और LEET की सीटों को भरने के लिए मेरिट आधार पर काउंसलिंग हुई। पहले चरण की काउंसलिंग के बाद प्रदेश के 15 पॉलीटेक्निकल संस्थानों में 2040 सीटें विभिन्न विषयों की खाली रह गई हैं। निजी पॉलीटेक्निकल संस्थानों में भी 1987 सीटें अभी तक खाली हैं। सरकारी पॉलीटेक्निकल में टीएफडब्ल्यू की 95, निजी संस्थानों की 88 सीटें हैं।

सुनील वर्मा, सचिव, तकनीकी शिक्षा बोर्ड धर्मशाला  ने जानकारी दी है कि पहले चरण की काउंसलिंग के बाद कई पॉलीटेक्निकल संस्थानों में सीटें खाली रह गई हैं। सीटों को भरने के लिए जल्द ही दूसरे चरण की काउंसलिंग करवाई जाएगी। सुंदरनगर में 182, हमीरपुर में 162, रोहड़ू में 119, कंडाघाट में 131, कांगड़ा में 211, अंबोटा में 171, चंबा में 173, बनीखेत में 60, तलवाड़ा में 71, शिमला में 157, किन्नौर में 94, पांवटा साहिब में 256, कुल्लू में 154, बिलासपुर में 73 और लाहौल-स्पीति में 26 सीटें अभी भी रिक्त हैं।

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

Be the first to comment on "हिमाचल प्रदेश के सरकारी और निजी पॉलीटेक्निकल कॉलेजों में 4027 सीटें खाली रह गईं"

Leave a comment

Your email address will not be published.


*