बैजनाथ पवित्र शिव की नगरी हिमाचल प्रदेश में दशहरा नहीं मनाया जाता है जानिए क्यों ?

बैजनाथ -हिमाचल प्रदेश
बैजनाथ पवित्र शिव की नगरी हिमाचल प्रदेश में दशहरा नहीं मनाया जाता है जानिए क्यों ?

कहा जाता है यह रावण की नगरी है , जिसने भी रावण का पुतला जलाने की कोशिश की या जिसने भी ये दुःसाहस करने की हिम्मत की थी या तो वो मौत के ग्रास बन गए या तो किसी बड़ी बीमारी का शिकार हो गए इसलिए ये धारणा आज भी कायम है ,

बैजनाथ शहर एक बहुत बड़ा शहर है पर हैरानी की बात है यहाँ कोई सोने की दुकान नहीं या कोई भी सोनार यहाँ व्यापार नहीं करता
ये भी सत्य है की ये नगरी छोटी सोने की लंका भी कही जाती है और ये रावण की नगरी है ,

इसलिए भूतकाल में जिसने भी सोने का व्यापार करना चाहा था वह या तो कंगाल हो गया या मौत का ग्रास बन गया ,इसलिए पवित्र और पावन नगरी बैजनाथ में न तो सोने का व्यापार और न ही रावण का पुतला जलाया जाता है |

Sample Text

Like Our Page
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  
  •  

2 Comments on "बैजनाथ पवित्र शिव की नगरी हिमाचल प्रदेश में दशहरा नहीं मनाया जाता है जानिए क्यों ?"

  1. Aw, this was an incredibly nice post. Taking the time and actual effort to generate a good article… but
    what can I say… I put things off a lot and don’t seem to get nearly anything done.

  2. I enjoy reading through your article post | January 22, 2020 at 11:37 am | Reply

    Hi there, I enjoy reading through your article post.

Leave a comment

Your email address will not be published.


*